दिल्ली में चांदनी चौक की मुफ्त सैर करेंगे बच्चे-बुजुर्ग और महिलाएं। इस वाहन पर

20220205 180809

बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों को चांदनी चौक घूमने में बहुत जल्द नया अनुभव मिलने वाला है। दरअसल, उन्हें चांदनी चौक के इस छोर से उस छोर तक जाने के लिए जल्द ही इलेक्ट्रिक गोल्फ कार्ट उपलब्ध होंगी, वह भी मुफ्त। परिवहन विभाग ने शाहजहांनाबाद पुनर्विकास निगम के लिए इन वाहनों की टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली है। कंपनी का नाम फाइनल हो गया है।

यह प्रोजेक्ट रियल एस्टेट क्षेत्र की कंपनी ओमेक्स को मिला है। दिल्ली परिवहन विभाग ने कहा है कि उन्होंने टेंडर का काम पूरा कर दिया है। अब शाहजहांनाबाद पुनर्विकास निगम इन्हें चलाने को लेकर फैसला लेगा। अधिकारी ने कहा कि अब इन्हें सड़कों पर उतारने के लिए तीन माह से अधिक का समय नहीं लगेगा। अगले कुछ माह में चांदनी चौक के मुख्य मार्ग पर इलेक्ट्रिक गोल्फ कार्ट दिखेंगी। इनमें चालक सहित आठ लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी।

इलेक्ट्रिक कार्ट लालकिला के सामने लाल जैन मंदिर से फतेहपुरी तक सुबह नौ से रात नौ बजे तक चलाया जाएगा। यात्रियों से किराया नहीं लिया जाएगा। यह खर्च कंपनी स्वयं सीएसआर फंड के तहत उठाएगी। यहां के लिए 11 इलेक्ट्रिक गोल्फ कार्ट चलाई जाएंगी, लेकिन यात्रा करने में दिव्यांग, बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों को प्राथमिकता दी जाएगी। योजना के तहत जो वाहन चलेंगे, उन पर किसी तरह का विज्ञापन लगाने की अनुमति नहीं होगी। इलेक्ट्रिक गोल्फ कार्ट को चलाने और इनके रखरखाव की जिम्मेदारी भी कंपनी की होगी।

इससे पहले ट्राम चलाने की बन चुकी है योजना

2014 में तत्कालीन उपराज्यपाल नजीब जंग ने चांदनी चौक में ट्राम चलाने की योजना को मंजूरी दी थी। उन्होंने इस योजना पर काम करने के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिया था। एलजी ने ट्राम का माडल भी पास कर दिया था। उस योजना के अनुसार परेड ग्राउंड से फतेहपुरी तक ट्राम चलाई जानी थी, लेकिन तमाम तकनीकी अड़चनों के कारण इस योजना को रद कर दिया गया था। चांदनी चौक में 1908 में ट्राम सेवा शुरू की गई थी, लेकिन 1964 में आर्थिक तंगी के कारण इसे बंद कर दिया गया था।

गोल्फ कार्ट चलाने के लिए हटाने होंगे साइकिल रिक्शा

चांदनी चौक से लालकिला के सामने से फतेहपुरी मस्जिद तक करीब 1.3 किमी लंबे मुख्य मार्ग पर साइकिल रिक्शा बड़ी समस्या हैं। यहां नगर निगम की ओर से 400 साइकिल रिक्शा चलाने की अनुमति है, लेकिन 1,200 से अधिक साइकिल रिक्शा चल रहे हैं। चांदनी चौक सर्व व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय भार्गव कहते हैं कि इस समय चांदनी चौक मुख्य मार्ग पर इतने साइकिल रिक्शे हैं कि इन्हें हटाए बिना गोल्फ कार्ट को चलाना संभव नहीं है।