दिल्ली के सबसे पुराने रेस्तरां, जहां एक बार जाना तो बनता है बॉस!

मोती महल

यह 1947 से ही लोगों को लजीज बटररेस्टोरेंट  चिकन परोसता आ रहा है। नॉनवेज लवर्स की यह पहली चॉइस रहती है।

करीम होटल

ये मीट लवर्स के लिए लोकप्रिय अड्डा है। यहां की निहारी, बिरयानी, मटन कोरमा और चिकन कबाब लोग चटकारे लगाकर खाते हैं

इंडियन कॉफी हाउस

1957 में देश में पहले भारतीय कॉफी हाउस के रूप में स्थापित, इस कॉफी हाउस में प्रधानमंत्री जवाहरलाल से लेकर कई दिग्गज राजनेताओं ने चर्चाएं की हैं

क्वालिटी रेस्टोरेंट

सन 1940 में पिशोरी लाल लांबा लाहौर से नई दिल्ली पहुंचे और उन्होंने रीगल बिल्डिंग में क्वालिटी नाम से एक आइसक्रीम स्टोर खोला। धीरे-धीरे यह एक रेस्तरां के रूप में तब्दील हो गया

गुलाटी

यहां के गलौटी कबाब, तंदूरी मशरूम, बटर चिकन, और हांडी चिकन, बहुत फेमस हैं। बात करें इसकी स्थापना की तो इसे साल 1959 में स्थापित किया गया था

अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें