Delhi Weekend curfew- के तहत दिल्ली मेट्रो की नई गाइडलाइन जारी। बाहर निकलने से पहले जान ले।

20220105 174918
``` ```

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने के मकसद से दिल्ली में 55 घंटे का वीकेंड कर्फ्यू शुक्रवार रात से शुरू हो गया है। जो सोमवार 5 बजे तक लागू रहेगा। इस दौरान तमाम प्रतिबंध लागू रहेंगे। वहीं, वीकेंड कर्फ्यू के दौरान शनिवार और रविवार को जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। इसके तहत दिल्ली मेट्रो और बस सर्विस अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही चलती रहेंगी, लेकिन वीकेंड कर्फ्यू के लिए दिल्ली मेट्रो ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

एनसीआर में मेट्रो ट्रेनों के संचालन को लेकर दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) के एक बयान में कहा गया है कि दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन यानी हुडा सिटी सेंटर से समयपुर बादली लाइन पर वीकेंड कर्फ्यू के दौरान 15 मिनट के अंतर पर ट्रेन के फेरे लगेंगे। इस दौरान शनिवार और रविवार को दो ट्रेनों के परिचालन के बीच चलने का समय 15 मिनट होगा। वहीं, 15 मिनट की फ्रीक्वेंसी का यह नियम ब्लू लाइन की मेट्रो के लिए भी होगाष। ऐसे में द्वारका सेक्टर 21 से नोएडा इलेक्ट्रानिक सिटी या वैशाली लाइन के रूट पर चलने वालों को खास ध्यान रखना होगा

यह भी पढ़ें  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से कितने फायदे में हरियाणा के किसान


शनिवार और रविवार को यलो लाइन पर हुडा सिटी सेंटर से समयपुर बादली के बीच हर 15 मिनट के अंतराल पर मेट्रो उपलब्ध रहेगी।
द्वारका सेक्टर-21 से नोएडा इलेक्ट्रानिक सिटी और वैशाली के बीच ब्लू लाइन पर भी हर 15 मिनट पर मेट्रो उपलब्ध रहेगी। इसके अलावा अन्य सभी लाइनों पर वीकेंड कर्फ्यू के दौरान 20 मिनट के अंतराल पर मेट्रो चलेगी।
इसके अलावा सोमवार से शुक्रवार के दौरान मेट्रो वर्तमान में निर्धारित समय के अनुसार चलेगी।
अभी मेट्रो में 100 प्रतिशत सीटों पर बैठकर यात्रा करने की अनुमति है, लेकिन मेट्रो में खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं है। एक कोच में सिर्फ 50 लोग ही यात्रा कर सकेंगे।
दिल्ली सरकार द्वारा मेट्रो स्टेशनों पर भारी भीड़ को देखते हुए 100 फीसदी क्षमता के साथ मेट्रो चलाने की अनुमति गी गई है। नए नियम के मुताबिक अब मेट्रो में सभी सीटों पर लोग बैठ कर यात्रा कर सकेंगे, लेकिन खड़े होकर यात्रा की अनुमति नहीं है।

यह भी पढ़ें  दिल्लीवासियों को मिलेगी 7 नए अस्पतालों की सौगात, इतनी होगी बेड की संख्या