पूर्व फौजी की पत्नी की गुहार को अदालत ने किया खारिज

आपको बता दें कि राजेंद्र पार्क में हुई चोरी हत्याकांड के मामले में जेल में बंद पूर्व फौजी राय सिंह की पत्नी विमलेश की अंतिम जमानत याचिका को अदालत ने पूरी तरीके से खारिज कर दिया है पत्नी कमलेश ने अदालत से गुहार लगाई थी कि उनके पति को अंतिम संस्कार में शामिल होने की इजाजत दी जाए पर कोर्ट ने इस याचिका को खारिज कर दिया.

पीड़ित पक्ष अंजू रावत नेगी ने बताया कि आरोपी विमलेश ने अदालत से 14 दिन की जमानत मांगी थी. इसका पीड़ित पक्ष ने विरोध किया था इसके चलते अदालत ने बुधवार को सुनवाई करते हुए जेल में बंद फ़ौज़ी राव राय की पत्नी विमलेश की याचिका को खारिज कर दियाआपको बता दे 23 अगस्त की रात को एक ही बार मे एक साथ चार हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया था .

court1 0

पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि आरोपी राव राय सिंह अपने हाथ गंडासी लिए खुद चल कर पुलिस थाने आया था .और खुद अपने गुनाह को कबूल किया था उसने कहा कि मैंने अपनी बहू सुनीता यादब, किरायेदार कृष्णा तिवारी और किरायेदार की पत्नी और दो बच्चियों पर जान लेवा हमला कर सभी को मौत के घाट उतार दियाजब पुलिस घटना पर पहुँची तो पुलिस ने सभी लाशें घटना पर ही पायी पुलिस ने सभी लाशो का पोस्टमाटम कर परिवार को सौप दिया

Murder, We Wrote - The Ringer

आपको बता दे पुलिस ने घटनास्थल से आरोपी फ़ौज़ी राव राय सिंह और उसकी पत्नी को गिरफ्तार किया गया था पीड़ित परिवार ने बताया कि हम नही चाहते ऐसे जल्लाद आरोपी को जमानत मिले जिसने इतने सारे घर के चराग को बुझा दिया हम अदालत से यही चाहते है इस आरोपी को जमानत नही मिले.