गुरुग्राम का ये स्कूल कर रहा है बच्चो के साथ इतना बड़ा धोखा

डीएलएफ सिटी फेस टू डीपीएस स्कूल की मान्यता ना होने के कारण हजारों बच्चे के भविष्य पर बहुत खराब असर पड़ सकता है बच्चों के अभिभावकों ने इसे धोखाधड़ी करार देते हुए शुक्रवार को विधायक सुधीरसिंगला को ज्ञापन देकर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

School shut for a week after student tests positive in Delhi | Delhi News -  Times of India

विधायक ने अभिभावकों से कहा है कि वे शिक्षा मंत्री से इस मामले में बात करेंगे और इस मामले का जल्द से जल्द ही कुछ संज्ञान निकाला जाएगा विधायक ने कहा कि मैं जिला अधिकारी को एक पत्र भेज रहा हूं जिसमें इस स्कूल की जांच की मांग की गई।

अभिभावकों का आरोप है। कि उनके बच्चे डीपीएस डीएलएफ सिटी फेस टू में पढ़ते हैं और उनको कहीं से पता चला है कि उनके बच्चे जिस स्कूल में पढ़ते हैं उस स्कूल के पास सीबीएसई से कोई मान्यता नहीं है।

How will COVID-19 change our schools in the long run?

ऐसे में सवाल तो उठता है कि कोई स्कूल कैसे बच्चों के भविष्य के साथ खेल सकता है इस स्कूल में करीब 1600 बच्चे पढ़ते हैं सभी बच्चों का भविष्य दांव पर लगा हुआ है हैरानी की बात यह है कि इतनी पॉश इलाके में स्कूल बच्चों के भविष्य के साथ कैसे खेल सकता है। कई परिजनों का आरोप है कि इसमें शिक्षा विभाग की मिलीभगत भी शामिल है शिक्षा विभाग को सब पता है कि यह स्कूल सीबीएसई से मान्यता प्राप्त नहीं है।

अभी बाबा कौन है बताया कि उन्होंने विधायक से शिकायत कर दी है पर जब वह स्कूल में शिकायत कर करते हैं तो उनको स्कूल की तरफ से धमकियां दी जाती हैं।

बच्चों के अभिभावकों ने यह भी बताया कि डीपीएस डीएलएफ सिटी स्कूल को डीपीएस मारुति कुंज अपना बताता है अभी बाबू को कभी यह भी कहना है कि मारुति कुंज को मारुति सुजुकी कंपनी के अधीन मारुति एम्पलाई एजुकेशन ट्रस्ट चलाता है सीधे तौर पर कहीं तो मारुति सुजुकी हमारे बच्चों के भविष्य के साथ बहुत खिलवाड़ कर रहा है इससे हमारे बच्चों का भविष्य खतरे में पड़ सकता है।