अवैध बूचड़खाने 4 गायो को बचाया गया

cow 13 10 21 1 700x389 1

जैसा की आप सभी जानते है देश में अलग-अलग इलाको में अवैध बूचड़खाने एक बड़ी समस्या का रूप में उभरते जा रहे है । बता दे अब इसी के अंतर्गत धारीवाल में पिछले कुछ समय से चल रही हड्डारोड़ी में गलत तरीके से चल रहे बूचड़खाने का पर्दाफाश हो गया है। बता दें किगुरदासपुर पुलिस के 40 अधिकारियो ने बीती रात को एक आपरेशन चलाकर 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया और सभी लोगो पर केस दर्ज किया है। और सभी आरोपियों को धारीवाल के गांव कल्याणपुर व बदेशा गांव के बीच आने वाले रास्ते में चल रहे हड्डारोड़ी के अवैध बूचड़खाने में गायों को मार रहे थे।

Gurudaspur Slaughter House

जब पुलिस की घटना के जगह पर दबिश के समय आरोपितों ने तीन गायों को सिर पर हथौड़े से वार करके गाय को मार दिया था। एक गाय अधमरी हालत में पुलिस को मिली थी गनीमत ये रही चार गाय को सही सलामत बचा लिया गया। गायों को उनकी नाक के अंदर से रस्सी और पैरों से भी बांधा गया था। पुलिस ने सभी आरोपियों को अपनी गिरफ्त में लेने के बाद सभी गायों को पशु अस्पताल पहुंचाया है। जहां मृत गायों का पोस्टमार्टम करवाकर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें  दिल्लीवासियों को मिलेगी 7 नए अस्पतालों की सौगात, इतनी होगी बेड की संख्या
police 11 8 21 1

सभी आरोपियों पर मुक़दमा दर्ज करके जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया गया है इस घटना के मास्टरमाइंड नियामत मसीह निवासी तरीजा नगर, विक्की पुत्र जैमस मसीह निवासी तरीजा नगर, रवि पुत्र नियामत मसीह तरीजा नगर, थामस मसीह पुत्र जैमस मसीह, जैसम मसीह पुत्र कुन्नण मसीह, जोनी पुत्र हैपी, तरीजा नगर, बलकार मसीह पुत्र सरदार मसीह तरीजा नगर, वसीक, नासक और तनवीर निवासी ननौटा, सहारनपुर, उत्तर प्रदेश शामिल हैं।