साइबर जालसाजों ने खाते से उड़ाए 11.89 लाख, जानिए कौन-कौन से तरीके अपना रहे बदमाश

देश जैसे जैसे आधुनिक तकनीकि की तरफ बढ़ रहा है वैसे वैसे ही साइबर क्राइम भी तेजी से बढ़ रहा है। साइबर धोखाधड़ी के तमाम मामलों के बीच एक बार फिर एक शख्स के खाते से बदमाशों ने 11.89 लाख रुपये उड़ा लिए। पीड़ित शख्स इस धोखाधड़ी के शिकार तब हुए, जब बैंक के कस्टमर केयर का नंबर पता करने के लिए उन्होंने आनलाइन सर्च किया। इसके बाद उनके नंबर पर काल आया और देखते देखते ही सारे पैसे अकाउंट से उड़ गए। पीड़ित शख्स ने मोहन गार्डन थाना में इसकी

शिकायत की है। पुलिस ने धोखाधड़ी की धारा में मामला दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है। अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। भगवती गार्डन निवासी संदीप ने पुलिस को बताया कि स्टेट बैंक आफ इंडिया में उनके दो खाते हैं। किसी वजह से इन खातों में कितनी रकम जमा है, यह उन्हें पता नहीं चल पा रहा था। इसकी जानकारी के लिए उन्होंने बैंक के कस्टमर केयर से बात करनी चाही। नंबर पता करने के लिए उन्होंने इंटरनेट पर सर्च किया। इस दौरान इन्हें जो नंबर मिला, उस पर काल करने पर एक शख्स ने इनकी बात हुई।

उसने अपना नाम दीपक बताया। दीपक ने इन्हें कहा कि ये अपने मोबाइल पर एनी डेस्क एप्लीकेशन इंस्टाल करें। दीपक की बातों पर भरोसा करते हुए संदीप ने एनी डेस्क इंस्टाल कर लिया। इसके बाद संदीप के पास एक ओटीपी आई जिसे इन्होंने दीपक से साझा कर लिया। संदीप का आरोप है कि इसके बाद इनके खातों को हैक कर लिया गया। इसके बाद इनके एक खाते से 8.45 लाख रुपये तथा एक अन्य खाते से 3.44 लाख रुपये की निकासी कर ली गई। बाद में ठगी का एहसास होने पर मामले से पुलिस को इन्होंने अवगत कराया। अब पुलिस तकनीकी छानबीन का सहारा लेकर आरोपित की तलाश में जुटी है।