हर खबर सबसे पहले...अभी जुड़ें
Whatsapp Group
Join
Telegram Channel
Join
Whatsapp Channel
Join
हमसे जुड़े

“हरियाणा सरकार का बड़ा कदम:”विश्वविद्यालयों में गीता के संदेश का नया द्वार”

मनोहर लाल ने खोला गीता का विश्व केंद्र

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने खुले गीता के संदेश को दुनिया तक पहुंचाने की बात की

Advertisements

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खुले गीता के संदेश को विश्वविद्यालयों के माध्यम से दुनिया तक पहुंचाने के लिए एक अनोखी पहल की घोषणा की। वह कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय में हुए अंतरराष्ट्रीय गीता संगोष्ठी के शुभारंभ में शामिल हुए और वहां अपने संबोधन में इस महत्वपूर्ण कदम की घोषणा की।

एक नया विश्व केंद्र

मुख्यमंत्री ने बताया कि हैदराबाद के एक विश्वविद्यालय ने अंग्रेजी और विदेशी भाषाओं का क्षेत्रीय केंद्र बनाने की पहल की है। इस प्रस्ताव के तहत, हरियाणा सरकार ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को विश्व की भाषाओं का एक केंद्र बनाने का प्रस्ताव दिया है। यह स्थापना दुनिया भर के लोगों को गीता के संदेशों को एक साथ लाने का काम करेगी।

यह भी पढ़ें -  "हरियाणा में ऐतिहासिक फैसला: नांगल चौधरी को उपमंडल का दर्जा, ये 101 गांवों शामिल"

गीता: जीवन का सार

मनोहर लाल ने गीता को केवल एक पुस्तक नहीं, बल्कि जीवन का सार बताया। उन्होंने गीता को सार्वभौमिक और सर्वकालिक माना और इसका संदेश शांति और सुख की दिशा में है। वे मानते हैं कि आजकल जब आपसी समझ बढ़ेगी, तब ही विश्व शांति की दिशा में आगे बढ़ सकेगा, और इसमें गीता का संदेश ही एक महत्वपूर्ण साधन है।

दुनिया को दिशा देने का साधन

मनोहर लाल का मानना है कि गीता के माध्यम से हम दुनिया को एकीकृत कर सकते हैं और उसे शांति और समृद्धि की दिशा में ले जा सकते हैं। उनके इस प्रस्ताव से आशा है कि गीता के संदेश दुनिया भर में समझे जाएंगे और मानवता को एक साथ लाने का काम होगा।

यह भी पढ़ें -  "हरियाणा में ग्रीन यातायात:हाइड्रोजन स्टेशन का उद्घाटन" रूट देखे