किसान आंदोलन के चलते 2 दिन तक हरियाणा सरकार का फैसला, इन 7 जिलों में रहेगा इंटरनेट बंद

Nitesh Kush

हरियाणा में इंटरनेट सेवाएं बंद: किसानों के दिल्ली कूच से पहले सरकार का फैसला

हरियाणा सरकार ने किसानों के दिल्ली कूच को लेकर बड़ा कदम उठाया है।

हरियाणा में किसानों के दिल्ली कूच को लेकर प्रदेश के कई जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। संयुक्त किसान मोर्चे और किसान मजदूर मोर्चा समेत 26 किसान संगठन दिल्ली कूच करेंगे।

बंद जिले:

अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा

सुबह 6 बजे से 13 फरवरी रात 11:59 बजे तक इन जिलों में इंटरनेट बंद रहेगा। इस दौरान ब्रॉडबैंड और लीज लाइन का इंटरनेट चलता रहेगा।

सरकार का तर्क:

हरियाणा सरकार ने तर्क दिया कि CID के ADGP ने किसानों की तरफ से मार्च और प्रदर्शन की कॉल दी गई है। इससे तनाव, पब्लिक प्रॉपर्टी डैमेज और शांति व्यवस्था भंग होने की आशंका है।

किसानों का आगे का कार्यक्रम:

13 फरवरी को दिल्ली कूच

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) और किसान मजदूर मोर्चा समेत 26 किसान संगठन 13 फरवरी को दिल्ली कूच करेंगे। किसानों ने ऐलान किया है कि 13 फरवरी को दिल्ली कूच करेंगे।

सुरक्षा कदम:

हरियाणा पुलिस अलर्ट पर है। पंजाब के किसान 10 हजार ट्रैक्टर ट्रॉलियों पर दिल्ली जाने के लिए हरियाणा में दाखिल होंगे।

प्रशासन की कड़ी कार्रवाई:

अंबाला में धारा 144 लागू, शंभू बॉर्डर के पास सीमेंट की बैरिकेडिंग और कंटीली तारें लगा दी गई हैं।

अन्य जिलों में भी धारा 144 लागू:

सोनीपत, झज्जर, पंचकूला और कैथल में भी धारा 144 लगा दी गई है।

सारांश:

करीब 150 नाके लगाए गए हैं ताकि किसानों को रोका जा सके। इससे आम लोगों को भी परेशानी हो रही है, लोगों को अपने निजी काम के लिए रोजमर्रा की जिंदगी में सफर करना पड़ रहा है।