गुरुग्राम की सड़क पर 49 दिनों में कटे 2 करोड़ से ज्यादा के चालान, वाहन चालकों के लिए बनाई यह रणनीति

सड़क सुरक्षा समिति की मासिक बैठक का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सभागार में रखी गई। जिसमें गुरूग्राम जिला से होकर गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों और शहर की अंदुरुनी सड़कों और चौराहों को राहगीरों के लिए सुरक्षित बनाने पर विस्तार से चर्चा हुई। प्रमुख बिंदुओं की विस्तृत प्रगति रिपोर्ट लेने के बाद जिला में सड़क दुर्घटनाओं और सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु दर कम करने के उद्देश्य से जन सामान्य को यातायात नियमों का अधिक से अधिक पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।

49 दिन में किए 2 करोड़ 44 लाख 60 हजार रुपए के चालान

एसीपी ट्रैफिक संजीव बल्हारा ने बताया कि 11 नवंबर से 29 दिसंबर तक की अवधि में 176 ओवरलोड वाहनों से 88 लाख 6 हजार रुपए, बिना टैक्स वाले 299 वाहनों से 1 करोड़ 19 लाख रुपए, बिना हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट वाले 119 वाहनों से 59 हजार पांच सौ, प्रेशर हॉर्न वाले 65 वाहन चालकों से 6 लाख 50 हजार रुपए , ओवर हाइट 40 वाहनों से 8 लाख 25 हजार रुपए, क्षमता से अधिक यात्री बैठाने वाले 09 वाहनों से 09 हजार पांच सौ, सिग्नल तोड़ने वाले 87 वाहनों से 08 लाख 70 हजार व बिना प्रदूषण प्रमाण पत्र वाले 134 वाहनों से 01 लाख 34 हजार रुपये की राशि चालान के तौर पर वसूली गयी है।

इस बैठक में एसडीएम गुरूग्राम अंकिता चौधरी, एसडीएम बादशाहपुर सतीश यादव, एसडीएम सोहना जितेंद्र गर्ग, एसीपी ट्रैफिक संजीव बल्हारा, आरटीए सचिव वीरेंद्र सिंह तथा समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे।