दिल्ली से सटे गुरूग्राम में 2 हजार मकान मालिकों पर FIR दर्ज, जानें क्या है वजह

20211208 094751
``` ```

राष्ट्रीय राजधानी से सटे गुरुग्राम के डीएलएफ फेज-3 में मकान मालिकों की मुसीबतें बढ़ने वाली है। जिला नगर योजनाकार प्रवर्तन के सर्वे में दो हजार मकान ऐसे पाएं गए हैं। जिन्होंने नियमों की अनदेखी कर अतिरिक्त फ्लोर का बनाएं है। ईडब्ल्यूएस श्रेणी के 60 वर्ग गज के इन मकानों में सात से अधिक फ्लोर का निर्माण कर लिया गया है। इन मकान मालिकों पर डीटीपी की ओर से इस महीने से एफआईआर कराने शुरू करेंगे। इसके बाद

मकानों के सीलिंग अभियान चलेगा।

डीटीपी की तरफ से डीएलएफ फेज तीन में 2800 मकानों का सर्वे करवाया गया। कॉलोनी के यू-ब्लॉक में 80 फीसदी मकानों के निर्माण नियमों की अनदेखी की गई हैं। नियमों के हिसाब से चार फ्लोर की स्वीकृति है। लोगों ने 8-9 फ्लोर तक बना लिए हैं।

सील मकान खोले गए

बताया जा रहा है कि 2 मार्च 2021 को डीटीपी ने डीएलएफ फेज-3 के यू-1 से कार्रवाई शुरू करते 150 मकान को सील कर दिया था। लोगों की तरफ से डीटीपी को लिखकर दिया कि वह स्वयं अतिरिक्त निर्माण तोड़ देंगे। सभी को एक महीने की मोहलत दी गई। एक सप्ताह पहले सभी के सील को खोल दिया गया है

यह भी पढ़ें  Gurugram news: पिलर से निकल रहा यह पानी 700 के जान का बना खतरा

नोटिस के बावजूद भी सुधार नहीं

बता दे कि एटीपी आशीष शर्मा ने कहा कि सर्वे में बिल्डिंग प्लान का उल्लंघन करने पर मकान मालिकों को नोटिस दिया गया है। एफआईआर होगी और मकान सीलिंग भी किए जाएंगे। ऐसे मकानों पर कार्रवाई करने के लिए उपायुक्त के निर्देश है।