अब दिल्ली से उत्तराखंड जाइए आसानी से, 14 लेन का एक्सप्रेसवे हो रहा है तैयार

Nitesh Kush

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का पांचवां चरण, जो 2024 में पूरा होने जा रहा है, क्षेत्रीय कनेक्टिविटी के लिहाज से एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित होने वाला है। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि यह मेरठ को हापुड़ रोड, मेरठ की रिंग रोड और उत्तराखंड की राष्ट्रीय राजमार्गों से जोड़ेगा, जो यात्रा को अधिक सुगम और सहज बनाएगा।

अनूठी विशेषताएं

लंबाई और सुविधाएं: इस चरण की लंबाई 14.60 किलोमीटर है, जिसमें 4 लेन शामिल हैं, जो यातायात को सुगम बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इसमें 6 फ्लाईओवर, 2 अंडरपास, और 2 रैंप शामिल हैं।


प्रोजेक्ट की वर्तमान स्थिति
काम की गति: वर्तमान में प्रोजेक्ट का 23 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। एनएचएआई प्रत्येक महीने प्रोजेक्ट की समीक्षा कर रही है और साइट इंजीनियरों को प्रतिदिन के कार्य पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।


आगे की राह
नई समय सीमा: एनएचएआई ने प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए नौ से दस महीने का अतिरिक्त समय दिया है। इस हिसाब से 2024 के अंत तक एक्सप्रेसवे बनकर तैयार होने की उम्मीद है।
इस प्रोजेक्ट से यात्रा का अनुभव न केवल सुविधाजनक होगा, बल्कि यह क्षेत्र के विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान देगा।