हर खबर सबसे पहले...अभी जुड़ें
Whatsapp Group
Join
Telegram Channel
Join
Whatsapp Channel
Join
हमसे जुड़े

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट को रेलवे से हाईस्पीड कनेक्टिविटी, इन शहरो को होगा बड़ा फायदा

रेलवे कनेक्टिविटी की सख्त मंजूरी

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट को रैपिड रेल से हाईस्पीड कनेक्टिविटी मिलने जा रही है। आरआरटीएस के गाजियाबाद स्टेशन से जोड़ने के लिए 47 किमी. लंबी रेलवे लाइन का प्रस्ताव मंजूर हो गया है।

Advertisements

कनेक्टिविटी के लिए नई रेलवे लाइन

रेलवे मंत्रालय ने 47 किमी. लंबी नई रेलवे लाइन को मंजूरी दी है। इसमें समाहित हैं 20 किमी. लंबी रेलवे लाइन चोला रेलवे स्टेशन से नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट तक और 27 किमी. लंबा ट्रैक एयरपोर्ट से पलवल तक। यह नई रेलवे लाइन आयात और निर्यात को रफ्तार प्रदान करेगी।

एयरपोर्ट तैयारी में अंतिम चरण

अक्टूबर 2024 में एयरपोर्ट का निर्माण पूरा हो जाएगा। इसके लिए अब 24×7 काम चल रहा है। साथ ही, कनेक्टिविटी के लिए तैयारी भी जोरों पर है।

यह भी पढ़ें -  दिल्ली में धीरेंद्र शास्त्रीजी की कथा की बारी,नईं  ट्रैफिक एडवाइजरी जारी

रेलवे लाइन का महत्व

इस रेलवे लाइन से दिल्ली-कोलकाता और दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग को नई कनेक्टिविटी मिलेगी। इससे हरियाणा, राजस्थान और अन्य राज्यों के लोगों के लिए यात्रा आसान हो जाएगी।

फ्रेट कॉरिडोर और एक्सप्रेसवे

चोला रेलवे स्टेशन के पास फ्रेट कॉरिडोर और एक्सप्रेसवे की योजना है, जो उद्योगों को भी फायदा पहुंचाएगी। नई रेलमार्ग पर वंदे भारत जैसी फास्ट ट्रेनों का प्रस्ताव भी है।

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट के लिए एक्सप्रेस भी बनेंगे

नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट के लिए और भी एक्सप्रेस भी बनेंगे। चोला रेलवे स्टेशन से जेवर में 75-75 मीटर चौड़े दो एक्सप्रेसवे बनाए जाएंगे। इनमें से एक 20 किमी. और दूसरा 16 किमी. लंबा होगा। ये एक्सप्रेसवे रेलवे लाइन के बीच बनेंगे और लॉजिस्टिक हब और वेयरहाउस के लिए अवसर प्रदान करेंगे।

यह भी पढ़ें -  दिल्ली मेट्रो को मिली गोल्डन लाइन, ये 15 स्टेशन होंगे शामिल

बड़ी रेलवे लाइन की मंजूरी

रेलवे मंत्रालय ने 47 किमी. लंबी रेलवे लाइन को एयरपोर्ट से जोड़ने की मंजूरी दे दी है। इसमें 20 किमी. लंबी रेलवे लाइन चोला रेलवे स्टेशन से नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट तक बिछेगी और 27 किमी. लंबा ट्रैक एयरपोर्ट से पलवल तक बिछाया जाएगा।