कौन हैं पूर्व IPS R.N. Singh, जिनके घर पड़ा आयकर का छापा, नोट गिनते गिनते हैंग हो गई मशीने

IMG 20220202 114700
``` ```

विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) 2022 को देखते हुए चुनाव से पहले ही इनकम टैक्स (Income Tax) की छापेमारी चल रही है और बड़ी मात्रा में नोटों का जखीरा बरामद कर रही है। पहले कन्नौज (Kannauj) में इत्र कारोबारी को पकड़ छापा मारा और अब पूर्व आईपीएस राम नारायण सिंह (Former IPS Ram Narayan) नोएडा सेक्टर-50 (Noida Sector-50) स्थित घर में आयकर विभाग (Income Tax Department) की छापेमारी कर तीन करोड़ कैश बरामद किये हैं।

रुपए किसके हैं, इसका जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है। आयकर विभाग (Income Tax) की टीम ने देर रात एक बजे छापा मारा था, नोटों की गिनती अभी तक जारी है। नोटों की गिनती के लिए मशीन भी मंगाई गई थी। चुनावों में इस बार नोएडा (Noida) में रिकॉर्ड तोड़ ब्लैक मनी (Black Money) मिल रही है। 15 जनवरी से अब तक आयकर विभार (Income Tax) की टीम लगभग ढाई करोड़ रुपए की ब्लैक मनी (Black Money) जब्त कर चुकी है।

यह भी पढ़ें  मेट्रो सफ़र करने वालों को शानदार तोहफ़ा, 29 underground स्टेशन के नाम जारी, मिलेगा स्पेशल सुविधा

मिले 600 लॉकर

आपको बता दें कि जांच के दौरान इनकम टैक्स विभाग (Income Tax Department) की टीम को पूर्व IPS राम नारायण सिंह (Former IPS Ram Narayan Singh) के घर लॉकर होने की खबर मिली। जिसमे 20 लाख की नकदी होने की जानकारी मिलने के बाद टीम ने इनके लॉकर की जांच के लिए छापेमारी करना शुरु कर दिया।

आयकर की टीम जब घर के अंदर पहुंची तो बेसमेंट (Basement) के अंदर लगभग 600 प्राइवेट लॉकर (Private locker) मिले। यह लॉकर अन्य लोगों के बताए जा रहे हैं, जिन्हें किराए पर दिये जाते थे। यह रुपए किसके हैं, इसका जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है। जिसकी जांच करने में इनकम टैक्स (Income Tax) की टीम लगी हुई है।

जांच में पता लगा लॉकरों का है पुश्तैनी काम

पिछले पांच साल से ‘मानसम कंपनी’ (Mansam Company) इस सेफ्टी वॉल्ट में लॉकर किराये पर देने का काम कर रही है। पूर्व आईपीएस (Former IPS) अधिकारी की पत्नी के नाम पर निजी तौर पर प्राइवेट लॉकर किराए पर देने का काम किया जाता है। जो उनका पुश्तैनी काम है। विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कई लॉकरों में नगदी और आभूषण मिले हैं।

यह भी पढ़ें  प्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली सरकार की तैयारी, जून तक शुरू होंगे 100 EV चार्जिंग स्टेशन

यहां अनियमितताएं भी मिली हें। मसलन, यहां लॉकर लेने वालों के केवाईसी (KYC) नहीं मिले। जिन लॉकरों में सामान मिला है, उनके मालिकों से जानकारी ली गई है। इस कार्रवाई के दौरान काली कमाई खपाने के संकेत मिले हैं।

IMG 20220202 114740

विभाग टीम ने सर्वे की कार्रवाई को जांच में तब्दील कर दिया। जिसमे देर रात तक 500 से ज्यादा लॉकरों को खंगाला गया। आपको बता दें कि पांच संदिग्ध लॉकरों के मालिक सामने नहीं आ रहे हैं। आयकर विभाग (Income Tax Department) की टीमों ने उन लोगों से संपर्क किया, लेकिन वे सामने आने में आनाकानी कर रहे हैं। आयकर विभाग (Income Tax Department) की जांच अब बेनामी लॉकर की ओर बढ़ रही है। पकड़ी गई रकम सरकारी खाते में जमा होगी।

जानें पूर्व आईपीएस राम नारायण सिंह कौन है…

जानकारी के अनुसार राम नारायण सिंह यूपी कैडर (Ram Narayan Singh UP Cadre) और 1983 बैच के IPSअधिकारी थे। साथ ही वह DG रैंक से रिटायर हुए हैं। नोएडा सेक्टर-50 (Noida Sector-50) में ये मकान पूर्व आईपीएस former ips अधिकारी आर.एन. सिंह का है जिस घर में उनका बेटा सुयश और उसका परिवार रहता है।

यह भी पढ़ें  150 साल पहले ऐसे थी अपनी दिल्ली, इन 20 तस्वीरों में कनाट प्लेस से लेकर चाँदनी चौक तक

पूर्व आईपीएस (Former IPS) अधिकारी और उनकी पत्नी मिर्जापुर में रहते हैं। ‘मानसम कंपनी’ (Mansam Company) को ऑपरेट करने का काम राम नारायण सिंह (Ram Narayan Singh) की पत्नी करती हैं। इनकी पत्नी द्वारा लोगों को पैसे रखने के लिए किराये पर लॉकर दिए जाते थे। जो 3 करोड़ की रकम बरामद हुई है,जो लॉकरों में रखी गई थी। ऐसा बताया जा रहा है कि बरामद रकम 3 लोगों की है।