संभावित तीसरी लहर के चलते दिल्ली में लागू हो सकता है ग्रैप, जानिये- क्या खुला रहेगा और किस पर होगा प्रतिबंध

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर ग्रेडेड रिस्पान्स एक्शन प्लान (ग्रेप) के लिए निर्धारित मानक के करीब पहुंच गई है। अब दिल्ली को ग्रेप के लिए तैयार रहना है, क्योंकि हालात इसी तरह लगातार बिगड़ते रहे तो दिल्ली में अगले कुछ दिनों में ग्रेप लागू हो सकता है। ग्रेप के लिए चार रंग के स्तर (लेवल) निर्धारित किए गए हैं।जिसमें चौथे स्तर के लागू होने पर दिल्ली में पूर्व रूप से लाकडाउन लग जाएगा।

जरूरी सेवाएं रहेंगीं जारी

अगर कोरोना संक्रमण दर और कोरोना के नए मामलों में वृद्धि होती है, तो सख्त नियम लागू होंगे। इस दौरान रंगों पर आधारित चार तरह के अलर्ट काम करेंगे, जिसमें लेवल-1 (येलो), लेवल-2 (अंबर), लेवल-3 (आरेंज) और लेवल-4 (रेड) होगा। अलर्ट के सभी चार स्तर में आवश्यक वस्तुओं की दुकानें और प्रतिष्ठान खुल सकेंगे और आवश्यक सेवाएं सुचारू रूप से चलती रहेंगी।

naram

येलो, अंबर और आरेंज अलर्ट के दौरान दिल्ली सरकार और स्थानीय निकायों के दफ्तर खुले रहेंगे। लेकिन ग्रुप-ए अधिकारियों की 100 प्रतिशत उपस्थिति रहेगी और बाकी सबकी 50 प्रतिशत उपस्थिति रहेगी। लेकिन रेड अलर्ट जारी होने पर केवल आवश्यक गतिविधियों, अस्पताल और पुलिस आदि यह सब पूरी तरह से चालू रहेंगी।

naramnewsdd

वहीं, येलो और अंबर अलर्ट के दौरान, जितने भी प्राइवेट आफिस हैं, वह 50 प्रतिशत क्षमता के साथ सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक काम करेंगे। लेकिन आरेंज और रेड अलर्ट जारी होने पर केवल छूट की श्रेणी में आने वाले निजी दफ्तर ही खुलेंगे। सार्वजनिक पार्क और उद्यान केवल येलो अलर्ट तक खुल सकेंगे।