दिल्ली से हरियाणा के शहरो की कम होगी दूरी, दोनों प्रदेशों के बीच चलेगी रैपिड मैट्रो ट्रेन बनेंगे 17 स्टेशन

images 2022 01 04T132652.344

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली से हरियाणा की कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए सरकार ने अपने स्तर पर प्रयास आरंभ कर दिए हैं। हालांकि सडक़ मार्ग से तो हरियाणा और दिल्ली की कनेक्टिविटी शानदार है, मगर रेल मार्ग से आने जाने में लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसलिए हरियाणा सरकार की सिफारिश पर केंद्र सरकार ने इन दोनों प्रदेशों को रेल मार्ग से जोडऩे के लिए रैपिड मैट्रो रेल परियोजना चलाने का निर्णय लिया है।

इस परियोजना के साकार होते ही दोनों प्रदेशों के बीच रोजगार और बिजनेस के अवसर बढ़ेंगे तथा लोगों को हरियाणा से दिल्ली आने जाने में भी आसानी होगी। बता दें कि हरियाणा से प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग दिल्ली आते हैं, मगर रेल से बेहतर कनेक्टिविटी ना होने की वजह से उन्हें खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। पंरतु सरकार ने लोगों की इस परेशानी को समझते हुए ही रैपिड रेल की सौगात देने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें  इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन बनाने के काम में आएगी तेजी, दिल्ली में इन 14 स्थानों पर होंगे प्वाइंट

दिल्ली तक 17 स्टेशन होंगे

आपको बता दें कि करनाल में रैपिड ट्रेन के तीन स्टेशन बनाए जाएंगे और दिल्ली तक 17 स्टेशन होंगे। अभी दिल्ली तक पहुंचने के लिए बस या ट्रेन में ढाई घंटे लगते हैं, रैपिड ट्रेन से एक घंटे में पहुंच जाएंगे। दिल्ली-पानीपत रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम आरआरटीएस को सरकार से कुछ माह पहले ही मंजूरी मिल थी। पहले यह प्रोजेक्ट दिल्ली से पानीपत तक था।बाद में सरकार के प्रयास रंग लाए, जिसके बाद इसे करनाल तक कर दिया गया। इससे पहले पानीपत तक स्टेशन व रूट तय हो गए थे और डीपीआर भी बन गई थी।

ड्रोन सर्वे फाइनल हो चुका है

अब करनाल से पानीपत तक की डीपीआर शेष है, जो जल्द बनेगी। इससे पहले ड्रोन सर्वे फाइनल हो चुका है।करनाल जिले में पानीपत की ओर से आते हुए सबसे पहला स्टेशन घरौंडा, दूसरा ऊंचा समाना और तीसरा बलड़ी बाईपास के पास होगा। तीनों जगह ही हाईवे के साथ हैं। तीनों स्टेशन बनने से ग्रामीणों को भी फायदा होगा। इस प्रोजेकट की खास बात यह है कि ट्रेन का लोगों को ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि छह से 10 मिनट के बीच में ट्रेन स्टेशन पर उपलब्ध होगी। एक बार ट्रेन में 250 लोग सवार हो सकेंगे।

यह भी पढ़ें  दिल्ली की सड़कों पर दौड़ी ई-बस बनी चर्चा का विषय। लोगो को मिली सुविधाओं की जमकर की तारीफ।