बच्चों के वैक्सीनेशन सेंटर की जानकारी देंगे टीचर्स, जानें दिल्ली सरकार की गाइडलाइन

075f06caec4eab6b7eae4d607b36d9a3 original 1

दिल्ली में 15 से 18 साल के बच्चों को वैक्सीन लगाने के लिए तीन जनवरी से 159 केंद्र शुरू किए जा रहे हैं. वैक्सीनेशन सेंटर की जानकारी बच्चों के माता-पिता को उनके स्कूल के शिक्षकों द्वारा दी जाएगी. ये जानकारी दिल्ली सरकार द्वारा 15 से 18 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन के लिए जारी गाइडलाइन में दी गई है. गाइडलाइन के अनुसार हर कक्षा के क्लास टीचर को ये दायित्व दिया गया है कि वे अपने कक्षा के बच्चों के माता पिता को नजदीक वैक्सीनेशन केंद्र के बारे में जानकारी दें.

स्कूल का आईडी कार्ड होगा वैलिड
तीन जनवरी से 15 से 18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है. दिल्ली सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार वैक्सीनेशन केंद्र पर बच्चों के लिए एक अलग कमरा होगा. गाइडलाइन में ये भी कहा गया है कि स्कूल में नोडल ऑफिसर की नियुक्ति की जाएगी. नोडल ऑफिसर का ये दायित्व होगा वे निश्चित करें की स्कूल के सभी बच्चों को वैक्सीन लगे. वहीं बच्चों को वैक्सीनेशन के लिए जरुरी पहचान पत्र में स्कूल के आइडी कार्ड को भी शामिल किया गया है. गाइडलाइन में बताया गया है कि वैक्सीनेशन केंद्रों पर भी बच्चों का रजिस्ट्रेशन कराकर वैक्सीन लगाने की सुविधा होगी. दिल्ली सरकार द्वारा बच्चों के लिए वैक्सीनेशन केंद्र हास्पिटल, पॉलीक्लिनिक्स, स्कूल और वार्ड में भी लगाए जाएंगे. इन सभी वैक्सीनेशन केंद्रों पर भारत बायोटेक की को-वैक्सीन उपलब्ध होगी.

यह भी पढ़ें  दिल्ली एनसीआर और हरियाणा में बिछेगा सड़को का जाल, इन इन रूटों से जुड़ेंगे फ्लाईओवर लिस्ट जारी।

कहां कहा हैं वैक्सीनेशन केंद्र
दिल्ली में बच्चों को वैक्सीन लगाने के लिए 159 वैक्सीनेशन केंद्र बनाए गए हैं. जिसमें से दक्षिणी पूर्वी दिल्ली में 21, केंद्रीय दिल्ली में 17, पूर्वी दिल्ली में 15, नई दिल्ली में 18, पश्चिमी दिल्ली में 17, उत्तरी पूर्वी दिल्ली में 16, उत्तरी पूर्वी दिल्ली में 12, शाहदरा में 10, दक्षिणी दिल्ली में 11, दक्षिणी पूर्वी दिल्ली में 13 और पश्चिमी दिल्ली में 15 वैक्सीनेशन केंद्र होंगे. बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि हमने दिल्ली में हर रोज तीन लाख बच्चों का वैक्सीनेशन करने की तैयारी कर रखी है. हमारा प्रयास होगा की सात से दस दिनों में सभी पात्र बच्चों का वैक्सीनेशन कर दिया जाए.