Paytm फाउंडर विजय शेखर शर्मा दिल्ली में हुए थे गिरफ्तार, जानें वजह

20220313 233914
``` ```

Paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा को लेकर अब एक बड़ी खबर सामने आ रही है. बता दें कि विजय शेखर शर्मा को दिल्ली पुलिस ने एक कार को टक्कर मारने के आरोप में गिरफ्तार किया था. हालांकि उन्हें बाद में जमानत दे दी गई थी. बता दें कि ये घटना बीते महीने 22 फरवरी को हुई थी.

दरअसल, मदर इंटरनेशनल स्कूल के सामने Paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने अपनी जगुआर लैंड रोवर कार से दक्षिणी दिल्ली की DCP बेनिता मेरी जैकर की कार को तेज रफ्तार में टक्कर मार दी थी. इसी आरोप में उन्हें गिरफ्तार किया गया था.

जानकारी के मुताबिक DCP का ड्राइवर दीपक अरविंदो मार्ग पर पेट्रोल भरवाने गया था. टक्कर मारने के बाद विजय शेखर शर्मा अपनी कार से भाग गए थे. लेकिन DCP के ड्राइवर दीपक ने कार का नंबर नोट कर घटना की जानकारी DCP को दी. DCP के कहने पर दीपक ने मालवीय नगर थाने में शिकायत दी थी. इसके बाद पुलिस ने IPC की धारा 279 के तहत केस दर्ज किया था.

पुलिस ने जब इस मामले की जांच पड़ताल की तो कार का नंबर गुरुग्राम की एक कंपनी का निकला. पुलिस ने कंपनी के लोगों से घटना के बारे में पूछताछ की. इसमें सामने आया कि कार GK-2 में रहने वाले विजय शेखऱ शर्मा के पास है. इसके बाद विजय शेखऱ शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि बाद में उन्हें जमानत दे दी गई थीं.

यह भी पढ़ें  दिल्ली, गुरूग्राम से रेवाड़ी और नारनौल, महेंद्रगढ़ व दादरी जाने के लिए बनेगा सुपर हाईवे, 1800 करोड़ आएगी लागत.

ड्राइवर ने दर्ज कराई थी शिकायत

बता दें कि 22 फरवरी को अरबिंदो मार्ग पर मदर इंटरनेशनल स्कूल के पास एक कार के दूसरी कार से टकराने की सूचना मिली थी. इसके बाद कार चालक फरार हो गए. DCP के ड्राइवर दीपक कुमार की शिकायत पर लापरवाही से गाड़ी चलाने का मामला दर्ज किया गया था. जांच करने पर वाहन की पहचान की गई और उसके चालक विजय शेखर शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया और जमानत पर रिहा कर दिया गया. पुलिस के मुताबिक एचआर 98 सी 0197 नंबर की गाड़ी से टक्कर मारी गई थी. गाड़ी को जब्त कर लिया गया है.

CCTV फुटेज में कैद हुई कार
Paytm की ओर से जारी हुआ बयान


विजय शेखर शर्मा की गिरफ्तारी को लेकर Paytm की ओर से बयान जारी किया गया है. बता दें कि Paytm के प्रवक्ता ने कहा कि एक घटना के संबंध में एक शिकायत दर्ज की गई थी. उक्त घटना में किसी भी व्यक्ति या संपत्ति को कोई नुकसान नहीं हुआ है. गिरफ्तारी को लेकर मीडिया रिपोर्ट्स को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है. हालांकि उसी दिन सभी कानूनी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई थीं

यह भी पढ़ें  दिल्‍ली में पाबंदियों पर कब दी जाएगी ढील? स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने जवाब में कहा-