दिल्ली में 11 नवंबर से शुरू होगा ‘एंटी ओपेन बर्निंग कैंपेन’, जानें इसके बारे में

images 2021 11 09T161346.767

Delhi Air Pollution: दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में 11 नवंबर से 11 दिसंबर तक ‘एंटी ओपेन बर्निंग कैंपेन’ की शुरुआत होगी. उन्होंने बताया कि इसका उद्देश्य दिल्ली में खुली जगहों पर कचरा जलाने की घटना पर अंकुश लगाना है. उन्होंने कहा कि 10 विभागों की 550 टीमों को ये जिम्मेदारी सौंपी गई है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा, “हम लोगों से भी अपील करते हैं कि अगर उन्हें खुले में जलने की कोई घटना दिखाई देती है तो वे ‘ग्रीन दिल्ली’ ऐप पर शिकायत करें.” मंत्री ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण के 4 मुख्य स्रोत हैं जिनके लिए अरविंद केजरीवाल सरकार ने कैंपने लॉन्च किया है. इसमें धूल प्रदूषण के लिए धूल विरोधी अभियान, वाहनों से होने वाले प्रदूषण के लिए ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी बंद’ अभियान, पराली प्रदूषण के लिए पूसा बायो डी-कंपोजर और अब 1 महीने तक चलने वाला ‘ओपन बर्निंग कैंपेन’ अभियान है.

इतना ही नहीं, गोपाल राय ने ये भी कहा कि अगर पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी तो, हम सुनिश्चित करेंगे कि वहां पराली जलाना रोकने के लिए मुफ्त में जैव अपघटक (बायो-डीकम्पोजर) का छिड़काव किया जाए. उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने के लिए किसानों को दोषी नहीं ठहराया जा सकता, क्योंकि वहां की सरकारें ही कोई विकल्प उपलब्ध कराने में विफल रही हैं.

बता दें कि दिल्ली में पराली जलने के मामलों का शहर के प्रदूषण में हिस्सेदारी रविवार को बढ़कर 48 प्रतिशत हो गई. सरकारी एजेंसियों ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी के पड़ोसी राज्यों में पराली जलने के 5450 मामले सामने आने की जानकारी दी थी, जो इस मौसम की सर्वाधिक संख्या है.