दिल्ली, गुरूग्राम से रेवाड़ी और नारनौल, महेंद्रगढ़ व दादरी जाने के लिए बनेगा सुपर हाईवे, 1800 करोड़ आएगी लागत.

images 2021 12 03T105751.952 1

गुरूग्राम। देश भर में अब नई सडक़ परियोजनाओं पर तेजी से काम हो रहा है। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे ने कई राज्यों को भी गति प्रदान की है, ताकि प्रोत्साहित होते हुए राज्य सरकारें भी अपने प्रदेशों में नई सडक़ परियोजनाओं की शुरूआत करें। केंद्र सरकार की इस योजना के अंतर्गत हरियाणा राज्य में तेज गति से कई सडक़ परियोजनाओं पर काम शुरू किया गया था। राज्य के गुरूग्राम में जहां हैलीकॉप्टर हब बनाए जाने की योजना पर तेजी से काम चल रहा है, वहीं हरियाणा के कई शहरों को दिल्ली-गुरूग्राम हाईवे से जोडक़र प्रदेश में रोजगार के नए अवसर पैदा करने की कोशिश की जा रही है।

इन दो परियोजना पर खर्च होंगे 1800 करोड़

हरियाणा सरकार ने अपनी इसी योजना के तहत गुरूग्राम से रेवाड़ी जाने के लिए 1500 करोड़ की लागत से एक नया हाईवे बनाने का निर्णय लिया है। इस हाईवे के बाद दिल्ली, गुरूग्राम, मेवात, सोहना और फरीदाबाद से आवागमन का रास्ता बेहद सुगम हो जाएगा। इस हाईवे के साथ ही हरियाणा सरकार ने नारनौल, महेंद्रगढ़ और दादरी रोड को भी फोरलेन हाईवे बनाने का निर्णय लिया है। इस परियोजना पर करीब 300 करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान है। इस हाईवे के निर्माण के बाद दिल्ली, गुरूग्राम से रेवाडी और वहां से नारनौल, महेंद्रगढ़ व दादरी पर सफर करना बेहद आराम दायक हो जाएगा। फिलहाल यह रोड बुरी हालत में है और वहां यात्रा करना किसी चुनौती से कम नहीं है।

यह भी पढ़ें  150 साल पहले ऐसे थी अपनी दिल्ली, इन 20 तस्वीरों में कनाट प्लेस से लेकर चाँदनी चौक तक

ओल्ड एनएच 148 बी के नाम से नया फोरलेन

ओल्ड एनएच 148 बी के नाम से नया फोरलेन बनाया जाएगा। जिससे नारनौल से महेंद्रगढ़ व दादरी तक का सफर आने वाले दिनों में सुहाना हो जाएगा। इस रोड के फोरलने बनाने के लिए बकायदा टेंडर प्रक्रिया भी हो गई है तथा जल्द ही इसका निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा। इस रोड के नए निर्माण से नारनौल व महेंद्रगढ़ की जनता को फ्लाइओवर के नाम पर तोहफे भी मिले हैं।नारनौल में जहां दो नए फ्लाइओवर बाईपास पर कोरियावास मोड़ तथा सिंघाना रोड पर बनेंगे। वहीं महेंद्रगढ़ में मौजूदा फ्लाइओवर के साथ एक नया फ्लाइओवर भी बनाया जाएगा। नारनौल से दादरी जाने वाला रोड पूरी तरह से टूटा हुआ है। इस टूटे रोड के कारण लोगों को काफी परेशानी हो रही है। यहां तक की इस टूटे रोड के कारण नेशनल हाइवे का तमगा भी छिन गया था। सीएम मनोहरलाल दो बार इस रोड के निर्माण की घोषणा कर चुके थे, मगर टेंडर प्रक्रिया नहीं हो रही थी।

यह भी पढ़ें  दिल्ली में इस मेट्रो स्टेशन पर एक साथ हो सकेंगी तीन हजार गाड़ियों की पार्किंग, DMRC और NDMC ने लिया बड़ा फैसला