दिल्ली शाहदरा गैंगरेप…यह कमरा देखिए, 20 साल की युवती से हैवानियत बयां कर रही हर चीज

20220129 142210


देश जब गणतंत्र दिवस के जश्न में डूबा था, उसी वक्त दिल्ली के शाहदरा में इंसानियत शर्मसार हो रही थी
कड़कड़डूमा इलाके से एक महिला को पहले अगवा किया गया फिर शाहदरा इलाके में एक कमरे में कैद कर दिया
महिला से तीन युवकों ने गैंगरेप किया, फिर गंजा करके चेहरे पर कालिख पोती गई, चप्पलों की माला पहना निकाला जुलूस

करीब 10X10 का कमरा, सीलनभरी बदरंग दीवारें, टूटा हुआ फ्रिज, हर तरफ बिखरे सामान…महिला के साथ हैवानियत की दास्तां इस कमरे की तस्वीर बयां कर रही है। कमरे में पीड़ित की चीखें गूंजी होंगी, मदद की गुहारें गूंजी होगी। ये कमरा 20 साल की पीड़ित महिला के साथ दरिंदगी का गवाह है। शाहदरा में महिला के साथ हैवानियत मामले में अबतक 7 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं।

20220129 142210 1

शाहदरा इलाके में बुधवार को एक 20 साल की महिला के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी गईं। महिला को पहले अगवा किया गया। कस्तूरबा नगर के एक घर के कमरे में कैद कर दिया गया। फिर महिला को दो नाबालिग समेत तीन लड़कों के हवाले कर दिया गया जिन्होंने उसके बदन को नोचा। गैंगरेप किया। अननेचरल सेक्स के भी आरोप हैं। उसके बाद महिलाओं ने बाल काट दिए, चेहरे पर कालिख पोत दी। पिटाई की। चप्पलों की माला पहना पूरे इलाके में परेड कराया। वो इलाका जो उसका मायका भी है लेकिन मदद को कोई आगे नहीं आया। महज उसे पीटते हुए इलाके में जुलूस निकालने वाली तालिबानी भीड़ में शामिल ज्यादातर चेहरे उसके जाने-पहचाने थे। गलियों के घर भी जाने-पहचाने थे। आरोपी पिछले 2 महीनों से इस दरिंदगी के लिए मौके की तलाश में थे।

navbharat times 4

नाबालिग की खुदकुशी…और दहशत में जीने लगी पीड़ित
महिला के साथ विवेक विहार थाने के जिस कस्तूरबा नगर इलाके में हैवानियत हुई, वहीं उसका मायका भी है। 4 साल पहले परिजनों ने उसकी शादी नॉर्थईस्ट दिल्ली के रहने वाले एक युवक से कराई थी। पीड़ित महिला का एक बेटा भी है। आरोपी पिछले साल नवंबर से ही महिला की तलाश कर रहे थे। दरअसल, नवंबर में कस्तूरबा नगर के 16 साल के एक नाबालिग युवक ने कथित तौर पर ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली थी। नाबालिग के परिवार वाले इसके लिए पीड़ित महिला को जिम्मेदार मानते थे। पुलिस के मुताबिक, महिला और नाबालिग युवक के बीच दोस्ती थी। दोनों अक्सर मिला करते थे। शादी के बाद भी महिला और नाबालिग का मिलना-जुलना जारी थी। नवंबर में जब नाबालिग ने खुदकुशी की तब पीड़ित महिला अपने मायके ही थी। आरोपी परिवार ने तभी महिला को गंभीर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। तभी से वह दहशत में जी रही थी।


पीड़िता की छोटी बहन ने नवभारत टाइम्स को बताया कि बुधवार को सुबह करीब पौने 11 बजे वह गेहूं लेकर अपनी बहन के घर के लिए निकली। आरोपी भी चोरी-चुपके उसके पीछे लग गए। जब वह कड़कड़डूमा गांव में अपनी बहन के किराए के कमरे पर पहुंची तो आरोपी भी उसके पीछे-पीछे वहां पहुंच गए। करीब आधा दर्जन महिलाएं और दो नाबालिग लड़कों ने पीड़ित महिला को अगवा कर जबरन ऑटो में बिटा लिया। रास्तेभर उसकी पिटाई भी की। आरोपियों ने पीड़िता को कस्तूरबा नगर के एक मकान में कैद कर दिया। बाद में दो नाबालिग और एक अन्य लड़के को महिला के साथ दरिंदगी के लिए उकसाया। बंद कमरे में तीनों लड़कों ने उसके साथ दरिंदगी की। अननेचरल सेक्स किया। प्राइवेट पार्ट में मिर्ची तक डाला। उसके बाद महिला को बाहर निकाला गया। बाल काट दिए गए। मुंह पर कालिख पोत चप्पलों की माला पहना पूरे इलाके में घुमाया। दोपहर करीब डेढ़ बजे सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और किसी तरह उसे आरोपियों के चंगुल से छुड़ाया।

महिला के साथ विवेक विहार थाने के जिस कस्तूरबा नगर इलाके में हैवानियत हुई, वहीं उसका मायका भी है। 4 साल पहले परिजनों ने उसकी शादी नॉर्थईस्ट दिल्ली के रहने वाले एक युवक से कराई थी। पीड़ित महिला का एक बेटा भी है। आरोपी पिछले साल नवंबर से ही महिला की तलाश कर रहे थे। दरअसल, नवंबर में कस्तूरबा नगर के 16 साल के एक नाबालिग युवक ने कथित तौर पर ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली थी। नाबालिग के परिवार वाले इसके लिए पीड़ित महिला को जिम्मेदार मानते थे। पुलिस के मुताबिक, महिला और नाबालिग युवक के बीच दोस्ती थी। दोनों अक्सर मिला करते थे। शादी के बाद भी महिला और नाबालिग का मिलना-जुलना जारी थी। नवंबर में जब नाबालिग ने खुदकुशी की तब पीड़ित महिला अपने मायके ही थी। आरोपी परिवार ने तभी महिला को गंभीर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। तभी से वह दहशत में जी रही थी।

अवैध शराब और ड्रग्स तस्करी के धंधे से जुड़े हैं मनबढ़ आरोपी

पीड़ित महिला के पिता काफी समय से बिस्तर पर हैं। बिना सहारा अपने पैरों पर खड़े तक नहीं हो सकते। बेटी के साथ हैवानियत से वह दहल गए हैं। उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि आरोपी इलाके में अवैध शराब और ड्रग्स बेचते हैं। उन्होंने धमकाया भी था कि वो पुलिसवालों को कमिशन देते हैं इसलिए उनका कुछ नहीं बिगड़ सकता। वह कहते हैं, ‘मैं अपनी जिंदगी में कोई मुश्किल नहीं चाहता। मैं और मेरी छोटी बेटी यहां रहते हैं। मैं यहां पैदा हुआ हूं और यहीं पर रहूंगा। मुझे नहीं पता कि मैं केस भी लड़ पाऊंगा।’

अबतक 7 आरोपी गिरफ्तार, 2 नाबालिग भी पकड़े गए
2 घंटे बाद किसी तरह विवेक विहार थाने की पुलिस ने पीड़िता को आरोपी महिलाओं के चंगुल से छुड़वाया। मेडिकल कराने के बाद किडनैपिंग कर गैंगरेप, मारपीट, जबरन रोकने और आपराधिक साजिश की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने 7 महिलाओं को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के नाम हैं शालू (36), रज्जी (40), प्रेरणा (18), कोमल (25), वर्षा (38), प्रीति (36) और बेबी (40)। दो नाबालिगों को भी पकड़ा है जिनकी उम्र की पुष्टि की जा रही है। बाकी आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। पीड़िता के अदालत में बयान दर्ज करवा दिए गए हैं।