दिल्ली में महिलाओं के लिए अरविंद केजरीवाल ने किया बड़ा एलान, बोले-

images 2022 01 08T162620 3.580

पैसे की ताकत’ को अहमियत देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को वादा किया कि अगर आम आदमी पार्टी (AAP) 2022 में सत्ता में आती है तो वह उत्तराखंड में 18 साल से ऊपर की सभी महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देगी. उन्होंने कहा कि पैसे में बड़ी ताकत होती है

लेकिन महिलाएं अपने पिता, पति और पुत्र पर ही पैसों के लिए निर्भर रहती हैं इसलिए आप के सत्ता में आने पर 18 साल से उपर की हर महिला के खाते में हजार-हजार रूपये डाले जाएंगे. उन्होंने कहा, ”पैसे में बड़ी ताकत होती है. जेब में अगर पैसा हो तो आजादी रहती है. बाहर जाओ तो गोलगप्पे खा लो, एक सूट खरीद लो.”


केजरीवाल ने युवाओं को नौकरी देने के अपने वादे को भी दोहराया और कहा कि उन्हें नौकरी मिलने तक प्रत्येक को 5000 रु प्रति माह बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा. केजरीवाल ने उत्तराखंड में सत्ता में आने के एक महीने के भीतर काशीपुर, रानीखेत, रुड़की, डीडीहाट, यमुनोत्री और कोटद्वार को जिले घोषित करने का भी वादा किया.

आप द्वारा उत्तराखंड के लोगों से किए गए सभी वादों को ‘गारंटी’ बताते हुए केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने दिल्ली में किए अपने सभी वादों को पूरा किया है. उन्होंने कहा कि अदालत ने भी उनकी गारंटी पर मुहर लगा दी है.



मैं अपने हर वादे की गारंटी देता हूं- केजरीवाल
उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर में एक जनसभा में उन्होंने कहा, ”चाहे मुफ्त बिजली हो, मुफ्त तीर्थयात्रा हो, युवाओं के लिए नौकरी हो या महिलाओं के लिए मासिक भत्ता, मैं अपने हर वादे की गारंटी देता हूं. अगर हम उन्हें पूरा नहीं करते हैं तो लोग हमें सत्ता से बाहर कर दें.” आप के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा, ”उनके वादे हर चुनाव से पहले अन्य राजनीतिक दलों द्वारा किए जाने वाले व्यर्थ, खोखले वादों की तरह नहीं हैं. केजरीवाल जो कहता है वह करता है.” उन्होंने कहा कि विकास के दिल्ली मॉडल की तर्ज पर उत्तराखंड में भी अच्छे सरकारी स्कूल और अस्पताल स्थापित किए जाएंगे. उन्होंने कहा, ”हमने दिल्ली में 10 लाख लोगों को नौकरी दी है. हम आपको यहां यह क्यों नहीं दे सकते?”

अपनी गारंटियों को लेकर अदालत में जाने के लिए अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर तंज कसते हुए केजरीवाल ने कहा कि अगर भ्रष्ट दल जनता का पैसा खा सकते हैं तो वह आम आदमी को मुफ्त की बिजली या अन्य चीजें क्यों नहीं दे सकते.


अरविंद केजरीवाल ने कहा, ”राजनीतिक नेताओं को 4000 यूनिट बिजली मुफ्त में मिलती है, फिर आपको 300 यूनिट बिजली मुफ्त में क्यों नहीं दी जानी चाहिए?” आप नेता ने कहा कि वह राजनीति नहीं जानते और केवल इतना जानते हैं कि काम कैसे करना है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में आप के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कर्नल (सेवानिवृत्त) अजय कोठियाल भी उनकी तरह राजनीति नहीं जानते हैं. उन्होंने जनता से उन्हें पांच साल का समय देने के लिए कहा.

उन्होंने कहा, ”आपने बीजेपी और कांग्रेस को 10-10 साल दिए. उन्होंने राज्य को बर्बाद किया, लूटा और स्विस बैंक में पैसा जमा किया. हमें अपनी सेवा करने के लिए पांच साल दें और अगर हम काम करने में विफल रहे तो हमें बाहर

फेंक दे.