Home दिल्ली-एनसीआर दिल्ली में वाहन चालकों के लिए तोहफ़ा, अब कोई भी प्राइवेट आदमी...

दिल्ली में वाहन चालकों के लिए तोहफ़ा, अब कोई भी प्राइवेट आदमी लगा सकता हैं अपना स्टेशन, सरकार देगी पैसा

दिल्ली में सोमवार से निजी इलेक्टिक वाहन (ईवी) चार्जिग स्टेशनों की स्थापना के लिए सिंगल ¨वडो सुविधा शुरू की गई है। उपभोक्ता संबंधित डिस्काम के पोर्टल पर जाकर या हेल्पलाइन नंबरों पर काल करके इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं। दिल्ली सरकार ने घोषणा की है कि पहले 30,000 आवेदकों को 6,000 रुपये की सब्सिडी दी जाएगी। सरकार के इस प्रोत्साहन से चार्जरों की लागत 70 फीसद तक कम हो जाएगी।

images 2021 11 09T114959.071

इस बारे में दिल्ली सचिवालय में प्रेसवार्ता कर परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि यह सिंगल ¨वडो प्रक्रिया आनलाइन और फोन काल दोनों के जरिये उपलब्ध कराई जा रही है। दिल्ली सरकार के निर्देश पर डिस्काम (तीनों बिजली वितरण कंपनियां) ने धीमे और मध्यम चार्जरों की स्थापना की सुविधा के लिए 12 विक्रेताओं को पहले ही सूचीबद्ध कर दिया है। इन ईवी चार्जरों की स्थापना और संचालन को आवेदन के सात कार्य दिवसों के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। इन चार्जिग प्वाइंट के माध्यम से खपत होने वाली बिजली के लिए सरकार द्वारा टैरिफ दर 4.5 रुपये प्रति यूनिट निर्धारित की गई है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली पूरे देश में सबसे सस्ती ईवी चार्जिग सुविधा दे रही है। लगाए जा रहे 100 से अधिक सार्वजनिक चार्जिग स्थानों के अलावा अब कोई भी केवल 2,500 रुपये की कनेक्शन लागत पर निजी ईवी चार्जर स्थापित कर सकता है।

images 2021 11 09T115049.608

इन हेल्पलाइन नंबरों पर ले सकेंगे मदद :

उपभोक्ता संबंधित डिस्काम के पोर्टल पर जाकर या इन नंबरों पर काल करके सिंगल विंडो सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। इसमें बीआरपीएल के लिए 7011931880 या 19123 (विकल्प 9), टीपीडीडीएल के लिए 19124 (विकल्प 9) और बीवाईपीएल के लिए 01135999808।

images 2021 11 09T115059.130

ईवी चार्जर लगाने के लिए बहुत कम स्थान की जरूरत :

ईवी चार्जर लगाने के लिए बहुत कम स्थान की जरूरत होगी। एलईवी एसी के लिए केवल एक वर्ग फीट और एसी 001 के लिए दो वर्ग फीट की जरूरत होगी। डीसी-001 को दो वर्ग मीटर क्षेत्र और दो मीटर ऊंचाई वाली जमीन पर स्थापित किया जा सकता है। एलईवी एसी चार्जर और एसी 001 चार्जर दोनों वाल-माउंटेड हैं। इन दोनों का इस्तेमाल मुख्य रूप से दोपहिया और तिपहिया को चार्ज करने के लिए किया जाता है। इस मौके पर संवाद एवं विकास आयोग दिल्ली (डीडीसीडी) के उपाध्यक्ष जस्मिन शाह ने कहा कि ईवी नीति के तहत यह प्रयास दिल्ली को भारत की ईवी राजधानी बनाने में मील का पत्थर साबित होगा।