झील के किनारे मेट्रो स्टेशन बने न्यारा… DMRC जोरों-शोरों से कर रही काम, देखने को मिलेंगे हसीन नजारे

20220215 135946

जल्द ही दिल्ली वालों को मेट्रो के जरिए एक अलग तरह का एक्सपीरियंस देने जा रही है। डीएमआरसी फेज-4 के तहत झील किनारे स्टेशन बनाएगी, जहां से लोग ठंडी हवाओं, खूबसूरत नजारों का मजा ले सकेंगे। इतना ही नहीं अगर मुमकिन रहा तो बोटिंग का मजा भी लिया जा सकेगा। यह स्टेशन एलिवेटेड होगा, जहां से झील का पूरा नजारा देखा जा सकेगा। इस स्टेशन का काम जोरों पर चल रहा है।

भलस्वा नाम का यह स्टेशन, भलस्वा झील (Bhalswa Lake) के किनारे बनाया जाएगा। जनकपुरी वेस्ट से आरके आश्रम मार्ग तक बनाए जा रहे कोरिडोर पर यह स्टेशन होगा। यहीं से मेट्रो टर्न लेकर मजलिस पार्क और आजादपुर की ओर चली जाएगी।

झील किनारे यह स्टेशन इसलिए खास होगा क्योंकि इस स्टेशन के बनने से इस झील को भी एक नया रूप मिल सकता है। कोरोना वायरस के आने से पहले तक इस झील में बोटिंग होती थी। फिलहाल इस झील का पानी गंदा होता जा रहा है, जिसकी शिकायत आसपास रहने वाले लोगों ने कई बार की है।

कहा जाता है कि आसपास के मवेशियों का मल-मूत्र और घरों का गंदा पानी इस झील में जाता है। अब कहा जा रहा है कि स्टेशन तैयार होने के साथ ही झील के सौंदर्यीकरण का काम भी किया जाएगा। इसे एक नए पर्यटक स्थल के रूप में तैयार किया जाएगा।
डीडीए, पर्यटन विभाग और जल बोर्ड संवारेंगे झील
डीडीए, पर्यटन विभाग और जल बोर्ड मिलकर इस झील के सौंदर्यीकरण में भूमिका निभाएंगे ताकि दिल्ली वालों को यहां एक अलग एक्सपीरियंस मिल सके। डीएमआरसी इस ओर से यहां पर काम जारी है,

लेकिन जनकपुरी वेस्ट से आरके आश्रम मार्ग के रूट पर कुछ जगहों पर पेड़ काटने की अनुमति ना मिलने की वजह से इसके निर्माण में देरी हो रही है। हालांकि डीएमआरसी अपनी तरफ से बाकी सभी काम पूरे कर रही है। बता दें कि भलस्वा स्टेशन से पहले पिंक लाइन पर त्रिलोकपुरी संजय लेक स्टेशन भी झील के पास ही बना हुआ है। इस स्टेशन से झील की दूरी महज पांच मिनट की बताई जाती है लेकिन यह स्टेशन और झील दिल्ली वालों में एक नए पर्यटन स्थल के रूप में नहीं उभर पाया है।