दिल्ली से लखनऊ तक का सफर होगा सिर्फ 4 घण्टे मे।

सबकुछ ठीक रहा तो आने वाले कुछ सालों के भीतर दिल्ली से यूपी की राजधानी लखनऊ का सफर बेहद कम समय में किया जा सकेगा। दिल्ली से लखनऊ के बीच ग्रीन हाईवे एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जाएगा, जिससे देश की राजधानी दिल्ली से लखनऊ की दूरी 600 किलोमीटर से घटकर करीब 450 किलोमीटर ही रह जाएगी। इसके बाद दिल्ली से लखनऊ का सड़क मार्ग के जरिये सफर साढ़े तीन से चार घंटे में पूरा किया जा सकेगा।

इस बाबत केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister for Road Transport and Highways Nitin Gadkari) ने कहा है कि दिल्ली से लखनऊ के बीच ग्रीन हाईवे एक्सप्रेस-वे बनाया जाएगा। इससे दिल्ली लखनऊ की दूरी 600 किलोमीटर से घटकर करीब 450 किलोमीटर रह जाएगी और साढ़े तीन से चार घंटे में यह सफर पूरा किया जा सकेगा।

इसके तहत पहले चरण में कानपुर से लखनऊ के बीच बनने वाले ग्रीन हाईवे एक्सप्रेस-वे का अगले 10-12 दिनों में भूमि पूजन किया जाएगा। नितिन गडकरी बृहस्पतिवार को मसूरी (गाजियाबाद) में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के दो चरणों का लोकार्पण, चिपियाना आरओबी का निरीक्षण और आइटीएस कंट्रोल रूम का उद्घाटन करने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में उत्तर प्रदेश में पांच लाख करोड़ की लागत से नए राजमार्गों का निर्माण किया जाएगा। 20 ग्रीन हाईवे बनकर तैयार हैं और 26 ग्रीन हाईवे निर्माण की योजना अंतिम चरण में है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशन में पूरे देश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है।

दिल्ली से अमृतसर चार घंटे, कटड़ा तक छह घंटे, श्रीनगर तक आठ घंटे, हरिद्वार तक दो घंटे में और दिल्ली से मुंबई का सफर अब 12 घंटे में पूरा होने जा रहा है। राजमार्ग निर्माण में विश्व स्तरीय तीन रिकार्ड बनाए गए हैं। इनमें बडोदरा में 2.5 किलोमीटर लंबे मार्ग का निर्माण 24 घंटे में करना शामिल है। उन्होंने दावा किया कि आने वाले दिनों में देश की सड़कों का स्टैंडर्ड अमेरिका और यूरोप की सड़कों जैसा होगा।