गाजीपुर, टिकरी… आज बॉर्डर खोल रही पुलिस, दिल्ली-नोएडा आना-जाना हो जाएगा आसान?

दिल्‍ली से नोएडा और गाजियाबाद आने-जाने वालों के लिए बड़ी राहत की खबर है। जल्‍द ही टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर से रास्‍ता खुल सकता है। पुलिस ने दोनों जगह से बैरिकेड्स हटाने शुरू कर दिए हैं। डीसीपी (ईस्‍ट) प्रियंका कश्‍यप ने कहा कि सेक्‍टर 2 और 3 में NH9 खुल रहा है। जल्‍द ही NH24 भी खोल दिया जाएगा। दिल्‍ली पुलिस का कहना है कि किसानों के साथ सहमति बनने के बाद दोनों बॉर्डर्स पर इमर्जेंसी रूट खोल दिए जाएंगे। शुक्रवार सुबह पुलिस बैरिकेड्स हटाती नजर आई। रास्‍ता खुलता है तो पिछले करीब 11 महीनों से जारी किसान आंदोलन से परेशानी झेल रहे लाखों लोगों को राहत मिलेगी।

images 57

टिकरी बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने हटवाए बैरिकेड्स

शुक्रवार से वाया टिकरी बॉर्डर होकर दिल्ली जाने वाला एक तरफ का रास्ता खुलने के आसार हैं। दिल्ली पुलिस की टीम ने टिकरी बॉर्डर पर दिल्ली की ओर लगे बैरिकेड्स को हटवा दिया। सड़क के बीच गाड़ी गई कीलें हटवा दीं और जेसीबी की सहायता से रास्ता भी थोड़ा साफ कराया। हरियाणा सरकार की पावर कमिटी ने भी दो दिन पहले यहां बहादुरगढ़ में हुई किसानों व प्रशासन की मीटिंग के दौरान यहां बंद सड़कों के हालात देखे थे। बॉर्डर पर किसानों के स्टेज तक पहले से रास्ता खुला हुआ है।

images 59

किसान आंदोलन के चलते बंद टिकरी बॉर्डर (दिल्‍ली-हरियाणा) और गाजीपुर बॉर्डर (दिल्‍ली-यूपी) पर इमर्जेंसी रूट खोलने की योजनाएं हैं। किसानों के साथ आम सहमति बनने के बाद बॉर्डर्स पर लगे बैरिकेड्स हटा दिए जाएंगे।

दिल्‍ली पुलिस (गुरुवार को
images 58

किसान नेताओं से चल रही बात

किसान आंदोलन की वजह से लगे बैरिकेड्स हटने के पीछे ‌सुप्रीम कोर्ट के आदेश को वजह माना जा रहा है। 21 अक्‍टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि किसानों को प्रदर्शन का अधिकार है मगर अनिश्चितकाल के लिए सड़कें ब्‍लॉक नहीं की जा सकतीं।पुलिस अफसर के मुताबिक, किसान नेताओं से प्रदर्शन स्थल से रास्ता देने की बात की जा रही है। अगर वह रास्ता देने को तैयार हो जाते हैं तो शुक्रवार शाम तक रोहतक रोड को खोल दिया जाएगा।


टिकैत बोले- ट्रैक्‍टर लेकर संसद जाएंगे

पीएम ने कहा था कि हम अपनी फसल कहीं भी बेच सकते हैं। अगर सड़कें खुली हैं तो हम अपनी फसलें बेचने संसद भी जाएंगे। पहले हमारे ट्रैक्‍टर्स दिल्‍ली जाएंगे। हमने रास्‍ता बंद नहीं किया है, सड़क बंद करना हमारे आंदोलन का हिस्‍सा नहीं है।

राकेश टिकैत, भारतीय किसान यूनियन के नेता

दिल्ली पुलिस लगातार हरियाणा पुलिस के संपर्क में है। टिकरी बॉर्डर पर पु‌लिस और ‌किसान नेताओं के बीच मीटिंग का दौर देर रात तक जारी था। बताया जा रहा है ‌कि शुक्रवार तक अगर ‌किसान सहमत हो जाते हैं तो ‌टीकरी बॉर्डर को खोल ‌दिया जाएगा। डीसीपी परमिंदर का कहना था कि दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को बैरिकेड नहीं हटाया, लेकिन हटाने की तैयारी है।

निहंग संगठनों ने कहा, सिंघु बॉर्डर से नहीं जाएंगे

images 60

सिंघु बॉर्डर पर रास्‍ता खुलने के आसार कम ही हैं। गुरुवार को एक बार फिर निहंग सिखों की तरफ से बैठक की गई। बैठक के बाद निहंग सिखों ने बताया कि वह सिंघु बॉर्डर नहीं छोड़ रहे हैं। वे यहीं मौजूद रहेंगे और अपने हकों की लड़ाई के लिए यहां लड़ते रहेंगे। निहंग सिखों ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के कुछ नेता यह कह रहे हैं कि निहंग यहां से चले जाएं। हम उन नेताओं को कहना चाहते हैं कि ना तो हम किसी नेता के कहने पर यहां आए हैं और ना ही किसी के कहने पर यहां से जाएंगे। हम यही रहेंगे और हम गरीब मजदूरों की लड़ाई को लड़ते रहेंगे।