Delhi-Ghaziabad-Meerut का 180 KM/HR की रफ्तार वाला ट्रैक, देखें Exclusive Photos

20220203 154834

रिजनल रेपिड ट्रांजिस्ट कोरिडोर के

1 1

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ का काम काफी तेजी से चल रहा है. खबरों के अनुसार इस प्रोजेक्ट के तहर 17 किमी. का ट्रायल इस साल हो सकता है. इसके तहत साहिबाबाद से दुहाई को कनेक्ट किया जाएगा. पूरे कॉरिडोर का काम खत्म होकर यह ट्रेन अगले साल मार्च तक पटरी पर आ जाएगी. इस प्रोजेक्ट के तहत दिल्ली के साथ गाजियाबाद और मेरठ में भी इसे लेकर काफी काम किया जा चुका है. बता दें कि एनसीआरटीसी देश में पहला आरआरटीएस बना रहा है. यह एक रेल आधारित, हाई स्पीड रीजनल कंप्यूटर ट्रांजिस्ट सिस्टम है. इसकी स्पीड 180 किलोमीटर प्रति घंटा और औसत गति 100 किमी प्रति घंटा होगी.

2 1

फेज वन में दिल्ली में करीब 14 किमी हिस्सा है, जिसमें 4 किमी अंडरग्राउंड है. आनंद विहार आरआरटीएस स्टेशन अंडरग्राउंड ही बनेगा. दिल्ली में सराय काले खां, न्यू अशोक नगर और आनंद विहार स्टेशन होंगे. जब पहले चरण में यह रेपिड रेल चलेगी तो दिल्ली से मेरठ की दूरी एक घंटे से भी कम की रह जाएगी.

3 1

पहला चरण 82 किमी लम्बा है. इस कॉरिडोर में एलिवेटिड हिस्से को बनाने के लिए 20वीं लॉन्चिंग गैन्ट्री स्थापित की गई है. इस प्रोजेक्ट में अब तक 56 किमी के फाउंडेशन और 16 किमी वायडक्ट का निर्माण हो चुका है. इसके साथ ही 1200 से अधिक पिलर्स भी बन चुके हैं. सराय काले खां से मेरठ तक पूर्ण कॉरिडोर को चालू करने के 2025 का टारगेट रखा गया है.

WhatsApp Image 2022 02 02 at 22.44.50

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर के लिए सभी सुविधाओं युक्त ट्रेन का निर्माण गुजरात में हो रहा है. इसके लिए लेटेस्ट टेक्नीक का यूज किया जा रहा है. इस प्रोजेक्ट के तहत 40 ट्रेने बन रही हैं, इसमें 6 कोच की 30 आरआरटीएस ट्रेन और 3 कोच की 10 एमआरटीएस ट्रेन मेरठ में लोकल ट्रांजिस्ट के लिए बन रही हैं.

पहले चरण में 14 हजार से ज्यादा कर्मचारी और 1100 इंजीनियर दिन रात जुटे हुए हैं. ट्रायल के लिए गुलधर और दुहाई के बीच अत्याधुनिक आरआरटीएस ट्रेक बिछाने का काम शुरू हो गया है. फिलहाल बहुत सी जगह रेल की पटरियों पर वेल्डिंग का काम किय जा रहा है. पूरे प्रोजेक्ट को बस स्टॉप और मेट्रो से भी जोड़ने का काम किया जा रहा है.