28 मिनट की ये फ़िल्म करेगी दिल्ली मेट्रो की कहानी बयां। यहां दिखाई जाएगी ये फ़िल्म

गोवा में शनिवार से शुरू हो रहे भारत के 52वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में फेज तीन के दिल्ली मेट्रो कारिडोर के निर्माण की चुनौतियों पर तैयार डाक्यूमेंट्री फिल्म ‘चुनौतियों पर विजय’ दिखाई जाएगी। लिहाजा, इस फिल्म महोत्सव में दिल्ली मेट्रो के विकास की झलक भी दिखेगी। यह फिल्म महोत्सव 20 से 28 नवंबर तक है। फेज तीन के मेट्रो कारिडोर के निर्माण की चुनौतियों पर यह डाक्यूमेंट्री फिल्म डीएमआरसी ने तैयार कराया है।

दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि 28 मिनट की इस डाक्यूमेंट्री फिल्म के जरिये यह बताने की कोशिश की गई है कि फेज तीन में हेरिटेज लाइन पर किस तरह की तकनीकी चुनौतियों का सामना करते हुए काम हुआ

इस बाबत दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि 28 मिनट की इस डाक्यूमेंट्री फिल्म के जरिये यह बताने की कोशिश की गई है कि फेज तीन में हेरिटेज लाइन पर किस तरह की तकनीकी चुनौतियों का सामना करते हुए ऐतिहासिक स्मारकों व दरियागंज के घनी आबादी वाले इलाके से भूमिगत कारिडोर तैयार किया, जिस पर मौजूदा समय में मंडी हाउस से कश्मीरी गेट के बीच मेट्रो रफ्तार भर रही है। यह कारिडोर वायलेट लाइन का हिस्सा है।

गौरतलब है कि दिल्ली मेट्रो के फेज-3 में दिल्ली के साथ उत्तर प्रदेश और हरियाणा के एनसीआर के शहरों में करीब 190 किलोमीटर मेट्रो कारिडोर का निर्माण हुआ। इस दौरान आश्रम के अत्यंत व्यस्त सड़क होने के कारण सबसे छोटे भूमिगत स्टेशन का निर्माण किया गया। वहीं मजेंटा लाइन पर हौज खास में करीब 30 मीटर की गहराई पर भूमिगत स्टेशन तैयार किया गया, जो दिल्ली मेट्रो का सबसे गहरा मेट्रो स्टेशन है।