दिल्ली में हर जगह तैनात है पुलिस, काट रही है चालान पे चलान, तुरन्त बनवा ले ये प्रमाण पत्र।

20211213 124411

देश की राजधानी दिल्ली में अगर वाहन चला रहे हैं और आप ने अपने वाहन का प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (पीयूसीसी) अभी भी नहीं बनवाया है तो तुरंत बनवा लें वरना यह आपके लिए परेशानी का सबब बनने वाला है। वाहन चालक अगर पीयूसी नहीं बनाते हैं तो 10,000 रुपये का चालान कटवाने के लिए तैयार रहें। दरअसल, दिल्ली परिवहन विभाग (Delhi Transport Department) जल्द ही फिर से बगैर पीयूसी प्रमाणपत्र वालों के खिलाफ अभियान तेज करने जा रहा है। ऐसे में बिना पीयूसी सड़कों पर उतरे वाहनों का 10,000 रुपये का चालान किया जाएगा। ऐसे में जिन लोगों ने अपने वाहनों के प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र नहीं बनवाएं हैं तो तत्काल बनवा लें वरना 10,000 रुपये का भारी-भरकम चालान भरने के लिए तैयार रहें।


दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण को लेकर हालात गंभीर बने हुए हैं। दिल्ली में वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए दिल्ली परिवहन विभाग लगातार प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर नजर रख रहा है।वायु प्रदूषण को रोकने की मुहिम के तहत पेट्रोल पंपों पर भी पीयूसी की जांच की जा रही है। पेट्रोल पंपों पर पीयूसी के बिना पेट्रोल भरवाते समय अब 10,000 रुपये का चालान कट रहा है। इसके लिए परिवहन विभाग ने पेट्रोल पंपों पर सिविल डिफेंस वालंटियर की टीमें तैनात की हैं, मगर पिछले कुछ दिनों से अभियान कुछ धीमी गति से चल रहा था, इसे फिर से तेज किया जा रहा है। स्थिति पर गौर करें तो विभाग ने बगैर प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र वालों के पिछले महीनों में कई के चालान काटे गए हैं। एक दिसंबर से बगैर पीयूसी वालों के चालान कट रहे हैं।

यह भी पढ़ें  दिल्ली मेट्रो के यात्रियों को मिलेगा तोहफा, तकनीक के मामले में चुनिंदा देशों में शामिल हुआ भारत

यहां पर बता दें कि पिछले एक दिसंबर से छह दिसंबर तक 872 चालान काटे गए हैं और इन वाहनों के मामलों में 85 लाख 20 हजार का जुर्माना लगाया गया है। इसमें से एक दिसंबर को 119, दो दिसंबर को 111, तीन दिसंबर को 125, चार दिसंबर को 86, पांच दिसंबर को 116 और छह दिसंबर को सबसे अधिक 315 चालान काटे गए हैं। इसके पहले सितंबर से लेकर नवंबर तक 15 हजार पांच सौ 38 चालान काटे गए थे। इसमें पेट्रोल पंपों पर चलाए गए विशेष अभियान के 4089 चालान भी शामिल हैं। सितंबर से लेकर नवंबर तक के चालान पर लगाए गए जुर्माने का आंकलन करें तो यह जुर्माना राशि 15 करोड़ 53 लाख 80 हजार बैठती है।

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण को लेकर हालात गंभीर बने हुए हैं। दिल्ली में वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए दिल्ली परिवहन विभाग लगातार प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर नजर रख रहा है।वायु प्रदूषण को रोकने की मुहिम के तहत पेट्रोल पंपों पर भी पीयूसी की जांच की जा रही है। पेट्रोल पंपों पर पीयूसी के बिना पेट्रोल भरवाते समय अब 10,000 रुपये का चालान कट रहा है। इसके लिए परिवहन विभाग ने पेट्रोल पंपों पर सिविल डिफेंस वालंटियर की टीमें तैनात की हैं, मगर पिछले कुछ दिनों से अभियान कुछ धीमी गति से चल रहा था, इसे फिर से तेज किया जा रहा है। स्थिति पर गौर करें तो विभाग ने बगैर प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र वालों के पिछले महीनों में कई के चालान काटे गए हैं। एक दिसंबर से बगैर पीयूसी वालों के चालान कट रहे हैं।

यह भी पढ़ें  दिल्ली के लोगो को इलेक्ट्रिक बसों से मिलेगी किराये में राहत। बहुत कम होगा किराया। इन निर्धारित रूटों पर चलेगी ये बसे।

यहां पर बता दें कि पिछले एक दिसंबर से छह दिसंबर तक 872 चालान काटे गए हैं और इन वाहनों के मामलों में 85 लाख 20 हजार का जुर्माना लगाया गया है। इसमें से एक दिसंबर को 119, दो दिसंबर को 111, तीन दिसंबर को 125, चार दिसंबर को 86, पांच दिसंबर को 116 और छह दिसंबर को सबसे अधिक 315 चालान काटे गए हैं। इसके पहले सितंबर से लेकर नवंबर तक 15 हजार पांच सौ 38 चालान काटे गए थे। इसमें पेट्रोल पंपों पर चलाए गए विशेष अभियान के 4089 चालान भी शामिल हैं। सितंबर से लेकर नवंबर तक के चालान पर लगाए गए जुर्माने का आंकलन करें तो यह जुर्माना राशि 15 करोड़ 53 लाख 80 हजार बैठती है।